नक्सलवाद

नक्सलवाद

नक्सलवाद नक्सलवाद से सर्वाधिक प्रभावित  विश्व को सदियों से सत्य , अहिंसा और प्रेम का सन्देश देने वाले महावीर , बुद्ध और गाँधी का देश भारत पिछले चार दशकों से नक्सलवाद का दंश झेल रहा है । घोर हिंसक गतिविधियों को अंजाम देने वाली इस राष्ट्र विरोधी व्यवस्था ने आज देश के 20 राज्यों के … Read more

बेरोज़गारी

बेरोज़गारी

एक बार अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिण्टन ने कहा था- ” बिना उन्हें रोज़गार मिले , जो रोज़गार चाहते हैं , समाज के बुनियादी ढाँचे को दुरुस्त किए जाने की बात पर मैं यकीन नहीं कर सकता । ” सचमुच आज बेरोज़गारी अथवा बेकारी हमारे देश की ही नहीं , बल्कि पूरे विश्व की … Read more

गरीबी

गरीबी

भक्त कवि ‘ गोस्वामी तुलसीदास ‘ ने ‘ रामचरित मानस ‘ में लिखा है- “ नहिं दरिद्र सम दुःख जग माही ” अर्थात् इस संसार में गरीबी से बढ़कर दूसरा कोई दु : ख नहीं है । सच भी यही है कि गरीबी की मार खाया व्यक्ति कुछ भी करने को तैयार हो जाता है … Read more

आतंकवाद

आतंकवाद

आज आतंकवाद एक ऐसी वैश्विक समस्या का रूप धारण कर चुका है , जिसकी आग में सारा विश्व जल रहा है । आज कोई भी देश यह दावा नहीं कर सकता कि उसकी सुरक्षा व्यवस्था में कोई कमी नहीं है और वह आतंकवाद से पूरी तरह मुक्त है । सच तो यह है कि आज … Read more

डिजिटल इंडिया

भूमिका डिजिटल इण्डिया भारत सरकार की एक नई पहल है जिसका उद्देश्य भारत को डिजिटल माध्यम से सशक्त समाज और ज्ञानवान अर्थव्यवस्था में बदलना है । इसके तहत जिस लक्ष्य को पाने पर ध्यान केन्द्रित किया जा रहा है , वह है भारतीय प्रतिभा ( आई.टी. ) + सूचना प्रौद्योगिकी ( आई.टी. ) = कल … Read more

काला धन: समस्या एवम् समाधान

काला धन, जिसे अंग्रेजी में’ ब्लैक मनी ‘ कहा जाता हैं,को व्यावहारिक रूप से आयकर विभाग की नजर से छुपा हुआ होता है। इस धन का लेखा जोखा सरकारी आंकड़े में नहीं होता। यह बड़े- बड़े व्यापारियों, राजनेताओं , अधिकारियों, माफियो एवम् हवाला कारोबारी का अधोषत धन हैं। काला धन किसी भी अर्थव्यवस्था के विकास … Read more

अल्बर्ट आइंस्टाइन

अल्बर्ट आइंस्टाइन

अल्बर्ट आइंस्टाइन वह नाम है, जो विलक्षण प्रतिभा का पर्याय बन चुका है। भौतिक विज्ञान में उनके योगदान को देखते हुए उन्हें ‘ द ग्रेटेस्ट फिजिसिस्ट ऑफ ऑल टाइम ‘ की संज्ञा दी गई। उन्होंने ‘ टाइम ‘ पत्रिका के एक सर्वेक्षण में ‘ शताब्दी का व्यक्तित्व ‘ के रूप में सर्वाधिक मत प्राप्त किया … Read more

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध

डॉ. एपीजे अब्दुल करीम

डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम परिचय डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिनाडु के रामेश्वरम में एक मध्यवर्गीय मुस्लिम परिवार में हुआ था इनके पिता का नाम जैनुलाब्दीन था। जो पेशे से मछुआरे को अपने नाव को किराए पर देते थे और वे न तो ज्यादा पढ़े लिखे थे और ना ज्यादा अमीर। … Read more