दो पत्थर की दोस्ती

एक बार की बात है एक नदी जो काफी ऊंचाई से बहती हुई जब वह निचले तल तक पहुंचती है, तो उसके दोनो किनारों पर ढेर सारे गोल , अंडाकार असंख्य पत्थर पड़े हुए होते है।जिनमें से दो पत्थर की दोस्ती हो गई।

दोनो को आपस में मित्रता हो जाती है। धीरे धीरे उन दो पत्थर की दोस्ती और गहरी हो गई।जिनमें से एक पत्थर गोल, अंडाकार ,चिकना और बहुत की आकर्षक दिख रहा था और दूसरा पत्थर था जो काफी खुरदरा देखने में था, और उसका रूप भी बेकार था, और उसका कोई निश्चित आकार भी नहीं था।

जब दोनो आपस में विचार आदना – प्रदान करने लगे तो एक दिन खुरदरा पत्थर ने चिकने पत्थर से कहा – हे मित्र, मै तुमसे कुछ बात करना चाहता हूं, मै तुमसे कह सकता हूं।

तो चिकने पत्थर ने कहा – बिल्कुल मेरे मित्र, जो कहना है, कहो

तब खुरदरा पत्थर ने कहा – मै और तुम दोनो उच्च चोटी से बह कर आए हुए हैं। उसके बाबजूद तुम इतने गोल – मटोल, चिकना और आकर्षक हो। लेकिन मै नहीं हूं,ऐसा क्यों।

तब चिकने पत्थर ने उस खुरदरा पत्थर से कहा – शुरुआत में मै भी तुम्हारे ही जैसा था, बिल्कुल खुरदरा, न कोई रंग, न करें कोई आकार, न कोई रूप था लेकिन उसके बाबजूद मैंने निरंतर कई प्रयास किए अपने जिंदगी में लगातार मेहनत की है। कई वर्षों तक मै नदी के बहाव को खेला है। तूफान,आंधी, बाढ़ और ढेर सारी चीजो को झेलते हुए यहां तक की नदी के बहाव ने मुझे कई बार काटा है। तब जाकर मै घिसता, कटता हुआ आज मै चिकना हूं।और ये रूप मिला है।तुम अपने इस रूप परेशान मत हो, निराश मत हो, जिंदगी में संघर्ष करो क्योंकि अगर आप ने यह संघर्ष नहीं किया तो आप ऐसे ही रह जाओगे, मुझे भी लगता था।चाहता तो मै भी संघर्ष नहीं करता आराम से एक किनारे पर पड़ा रहता लेकिन इसके बाबजूद भी मैंने संघर्ष करना उचित समझा क्योंकि उस तरह आराम से पड़े रहने से बेहतर है कुछ मेहनत करो, कुछ अच्छा करो आगे बढ़ने के लिए और आज मै तुम्हारे सामने हूं।

दोस्तो, इस चोटी कहानी से हमे जिंदगी में बहुत बड़ी बात सीखने को मिलती है। वो जो खुरदरा पत्थर था अपने दोस्त की बात सुन कर काफी खुश हुआ। 

दोस्तों, संघर्ष में इतनी ताकत होती है कि इंसान को बदल कर रख देता है। इसलिए कभी भी जिंदगी मे संघर्ष करना मत छोड़िए, प्रयास बन्द मत कीजिए, कई बार आपको लगेगा कि आप के प्रयासों का फल आपको नहीं मिल रहा हैं। लेकिन इसके बाबजूद भी आप अपने प्रयास बन्द मत कीजिए। आप निरंतर आप अपने जिंदगी में कुछ अच्छा करने के लिए, कुछ अच्छा पाने के लिए, जिंदगी को नई ऊंचाई तक ले जाने के लिए लगातार मेहनत और संघर्ष मरते रहिए।

अगर आप यही मेहनत करते रहेंगे तो दुनिया में ऐसा कोई भी ताकत नहीं हैं  जो आपको सफल होने से रोक देगा आप सफल होंगे।
हंस के बात करो जमाने से ,क्योंकि उम्र बढ़ती है मुस्कुराने से। 

Leave a Comment